प्रेम में गाय


भारतीय सामाजिक संचार माध्यमों गाय एक चर्चित मुद्दा है| लोग जान देने और लेने की धमकी दे रहे है| कुछेक हत्याएं और दंगे हो चुकीं हैं| मगर ज्यादातर भारतियों ने बहुत मुश्किल से ही किसी गाय को सींग मारते हुए नहीं देखा होगा| उन्होंने भी नहीं, जिन्होंने खुद गाय पाली है| गाय लात भी यदा कदा ही मारती है|

भारतीय मानस में ही नहीं वास्तविकता में भी गाय एक जैसा जानवर हैं जो सीधी है और जिस खूंटे से बाँधी जाये वहीँ बंधी  रहती है| अगर दुधारू गाय को दिन भर के लिए घर से निकाल दिया जाये तो भी वो शाम को खुद दूध काढने के समय पर गौशाला पहुँच जाती है|

कम दूध देने वाली गाय को दूध के लिए प्रतिबंधित दवा के इंजेक्शन लगाये जाते है, पिटाई की जाती है, पैर बांध दिए जाते है; मगर विरोध का कोई शब्द नहीं आता|

गाय मानव से प्रेम करती है| मगर उसकी स्थिति उस माँ की तरह है, जिसके पैर छू कर सब स्वर्ग जाना चाहते हैं मगर सेवा कुछेक है करते हैं; और बुढ़ापे में वो कुछेक भी साथ छोड़ने लगते हैं| मगर गाय का मानव प्रेम कम नहीं होता| आप शायद ही कभी देखेंगे कि कभी चिढ़चिढ़ी होकर गाय ने किसी को मारा हो| क्षमा उसके जीवन का मर्म है|

दुर्भाग्य से प्रेममय होकर भी भगवान और गाय, घृणा और हिंसा का सबसे बड़ा कारण बन गए हैं| आयें प्रेम फैलाएं|

जिस प्रकार पीटे जाने पर भी गाय प्रेम कम नहीं करती है, हम सब भी अनुशरण करें|

Villager and calf share milk from cow in Rajasthan, India

For Indian social media, cow is a cause of big debate. Peoples threat each other to kill and be killed. Few murdered and riots already reported in media. This is happening when most Indians have rarely seen a cow attacking anyone.

Not only in Indian Psyche but in reality, Indian cow is a very generous  and never protest on restrictions.

Cow usually faces assault for milk. Many cow given injection which is prohibited medically and legally.

Cow loves humans. It is like a mother, who is respected in expectation of heaven but very few pay any service.

Unfortunately, loving god and cow are becoming biggest reason for hate and violence. Spread love.

A cow still loves humans even after they assault her, we have to follow the love.

टिप्पणी करे

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.