नया स्मार्टफ़ोन

आज के समय में अगर आप स्मार्ट हो या न हों मगर आपका फ़ोन हर हाल में स्मार्ट होना चाहिए| आज जीवन की हर सुविधा स्मार्ट फ़ोन के जरिये लोगों तक पहुँच रहीं है| मोबाइल बैंकिंग और मोबाइल टिकटिंग आदि ऐसे कुछ उदहारण है जिनका प्रयोग आपको ज्यादातर करना होता है| उधर सरकार भी अब ई- गवर्नेंस के साथ साथ मोबाइल – गवर्नेंस की बात करने लगी है| मुझे लगता है की स्मार्ट फ़ोन को इसलिए लिया जाना चाहिए कि वो आपके जीवन में कुछ और स्मार्टनेस लाये और आपको ई- गवर्नेंस, मोबाइल गवर्नेंस, मोबाइल बैंकिंग, मोबाइल टिकटिंग आदि अनेक सुविधाओं से समय पर जोड़ पाए|

किसी भी मोबाइल या स्मार्ट फ़ोन में भारतीय परिस्तिथि के अनुसार लम्बी लाइफ वाली ऐसी बैटरी होनी चाहिए जो जल्दी चार्ज हो जाये| हो सके तो आपको मोबाइल के साथ पॉवर बैंक साथ में चिपका कर न घूमना पड़े|

स्मार्ट फ़ोन की अपनी खुद की कार्यक्षमता बहुत अच्छी होनी चाहिए| किसी भी स्मार्ट फ़ोन की कार्यक्षमता उसके प्रोसेसर और रैम पर निर्भर करती है| इन दोनों का अच्छा होना बहुत जरूरी है|

किसी भी स्मार्ट फ़ोन का ऑपरेटिंग सिस्टम बेहद सरल सहज और तीव्र कार्यक्षमता वाला होना जरूरी है| यदि ऑपरेटिंग सिस्टम को समझना आसान होता है तो ज्यदातर लोग उसे समझ पाते हैं और आसानी से प्रयोग कर पाते हैं| किसी भी स्मार्ट फ़ोन की सफलता उसके अच्छे ऑपरेटिंग सिस्टम पर भी टिकी होती है|

जब से हम लोगों ने मोबाइल या स्मार्ट फ़ोन का प्रयोग प्रारंभ किया है हमें फ़ोटो और सेल्फी का रोग भी लग गया है| अब इसके लिए स्मार्ट फ़ोन में अगर अच्छा कैमरा नहीं है तो इसका मकसद किसी भी तरह पूरा नहीं होता है| कैमरा कहीं भी किसी भी परिस्तिथि में अच्छा चित्र निकल सके तभी स्मार्ट फ़ोन का कैमरा कहला सकता है|

स्मार्ट फ़ोन को एक फ़ोन ही होना चाहिये उसे न तो टैब की तरह बड़ा होना चाहिए न ही साधारण मोबाइल फ़ोन की तरह छोटा| आपकी उंगलियां उस पर आसानी से अपना काम कर सकें| उसका कुंजीपटल (keyboard), दृश्यपटल (display), और गति स्मार्ट होनी चाहिए| आप स्मार्टफ़ोन पर अपने सन्देश तेजी से लिख सकें| आने वाले सन्देश आँखों पर बिना जोर डाले पढ़ सकें, यह बहुत जरूरी है| कुल मिला किसी भी स्मार्ट फ़ोन का यूजर इंटरफ़ेस बहुत ही शानदार होना चाहिए|

भारत में खासकर दिल्ली जैसे राज्यों में जहाँ लोग रोमिंग में जाते रहते हैं दो सिम रखने का चलन है| इसलिए स्मार्ट फ़ोन को डूएल सिम होना ही चाहिए|

स्मार्ट फ़ोन तकनीकी इतनी तेजी से बदल रही है कि आज कोई भी अपने स्मार्ट फ़ोन को दो या तीन साल से ज्यादा चलाने के बारे में नहीं सोचता है| स्मार्ट फ़ोन का महंगा होना ऐसे में लोगों के लिए चिंता का विषय होता है| कोई भी स्मार्ट फ़ोन खरीदते समय जादातर लोग उसके लिए अपने एक महीने के वेतन से अधिक पैसा नहीं देना चाहते| भले ही इस बारे में कोई सोच समझ कर निर्णय न लिया जाये मगर ओसतन बज़ट एक माह के वेतन के बराबर ही होता है|

जल्दी ही एक ऐसा डूएल सिम स्मार्ट फ़ोन लांच होने जा रहा है जिसके बारे में कहा जा रहा है कि उसमें 2.3GHz 64-बिट इंटेल एटम Z3580 प्रोसेसर और चार जीबी का रैम है| इसका डिस्प्ले साढ़े पांच इंच का है| उसका कैमरा २ मेगापिक्साल मास्टर कैमरा है जो कम रौशनी में भी सरलता से तस्वीर निकाल सकता हैं| उसकी बैटरी ३९ मिनिट में ६०% चार्ज हो जाती है| मुझे यह जानने में दिलचस्पी बनी हुई है कि इसकी बैटरी कितनी देर में पूरी तरह चार्ज हो जाती है, क्योकि बैटरी का चार्ज होना गणित का नहीं वरन भौतिकशास्त्र का प्रश्न है| मुझे लगता है जिस प्रकार की सूचना आ रही है ASUS Zenfone 2 खरीद लिए जाने लायक स्मार्ट फ़ोन होना चाहिए|

Advertisements