अच्छी लड़की

[१]

ओढ़ाती है दुपट्टा

रत्ती भर इज्जत को

पानी से पर्दा रखती है

बंद गुसलखाने में

डर डर कर नहाती है

अच्छी लड़की|

[२]

फब्तियां और फितरे

डराते नहीं हैं मगर

शरीर की कैद में

दम तोड़ देती है इज्जत

चुप रहती है

अच्छी लड़की|

[३]

सड़क किनारे मूतते मर्द

माँ बहन पड़ोसन

रण्डीखाने में ढूंढते हैं

जिसे नहीं पाते वहाँ

चस्पा देते है तमगा –

अच्छी लड़की|

Advertisements

कृपया, अपने बहुमूल्य विचार यहाँ अवश्य लिखें...

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s